इंडोनेशिया में three दिन तक रहा चीनी जहाज, विरोध करने पर ड्रैगन ने दिखाई अकड़


जकार्ताः इंडोनेशिया के एक गश्ती जहाज ने उस चीनी तटरक्षक जहाज का विरोध किया जो लगभग तीन दिन से उस जलक्षेत्र में था जहां इंडोनेशिया आर्थिक अधिकारों का दावा करता है. यह क्षेत्र विवादित दक्षिण चीन सागर के चीन के दावों वाले क्षेत्र से दक्षिणी छोर के पास स्थित है. इंडोनेशियाई समुद्री सुरक्षा एजेंसी को चीन के जहाज 5204 के इंडोनेशिया के विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र में प्रवेश करने के बारे में पता शुक्रवार रात में चला था जिसे इंडोनेशिया उत्तर नातुना जल क्षेत्र कहता है. 

इंडोनेशियाई समुद्री सुरक्षा एजेंसी के प्रमुख आन कुर्निया ने बताया कि एजेंसी ने एक गश्ती जहाज को चीनी तट रक्षक जहाज से एक किलोमीटर के दायरे में भेजा और उक्त गश्ती जहाज के कर्मियों ने क्षेत्र में अपने देश के दावों के बारे में अपना पक्ष दृढ़ता से रखा.

कुर्निया ने कहा, ‘‘हमने उनसे कहा कि वे क्षेत्र से चले जाएं क्योंकि वह इंडोनेशिया का विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र है. हालांकि उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि यह चीन का ‘नाइन-डैश लाइन’ क्षेत्र है. जहाज पर तैनात हमारे अधिकारियों ने उनसे तब तक बहस की जब तक वे वहां से निकले नहीं.’’

कुर्निया ने कहा कि उन्होंने इस घटना की जानकारी इंडोनेशियाई सरकार के मंत्रियों को दे दी है. उन्होंने कहा, ‘‘चीन का तटरक्षक जहाज अंतत: सोमवार पूर्वा 11 बजकर 20 मिनट पर उत्तर नातुना से चला गया.’’

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने इसका संकेत दिया कि चीन को जहाज पर तैनात कर्मियों के कदमों में कुछ भी गलत नहीं दिखता और कहा कि दोनों देश ‘‘प्रासंगिक समुद्री मुद्दों’’ को लेकर सम्पर्क में हैं. वांग ने मंगलवार को दैनिक ब्रीफिंग में कहा, ‘‘दक्षिण चीन सागर के प्रासंगिक जल क्षेत्र में चीन के अधिकार और हित स्पष्ट हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक मुझे जानकारी है, चीनी तटरक्षक जहाज चीन के अधिकारक्षेत्र वाले जलक्षेत्र में सामान्य गश्त कर रहे थे.’’ 

उल्लेखनीय है कि चीन के ‘नाइन-डैश लाइन’ वास्तुत: पूरे दक्षिण चीन सागर पर उसके दावे को दिखाती हैं. फिलीपींस के संबंध में 2016 में आये एक अंतरराष्ट्रीय पंचाट के फैसले में समुद्र में चीन के अधिकांश व्यापक दावों को अमान्य करार दिया गया था लेकिन लेकिन चीन ने फैसले को नजरंदाज किया है. 

इंडोनेशिया का दक्षिण चीन सागर में कोई क्षेत्रीय दावा नहीं है, लेकिन इंडोनेशिया के विशेष आर्थिक क्षेत्र का एक हिस्सा चीन की ‘नाइन-डैश लाइन’ में आता है जिसमें उसका एक प्राकृतिक गैस क्षेत्र शामिल है.

.



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *