कोरोना: चुनाव आयोग अगले कुछ दिनों में बिहार का दौरा करने का निर्णय करेगा


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर

कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for simply ₹299 Restricted Interval Provide. HURRY UP!

ख़बर सुनें

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने सोमवार को कहा कि चुनाव आयोग (ईसी) अगले कुछ दिनों में बिहार का दौरा करने का निर्णय करेगा जहां कोविड-19 महामारी के बीच इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है।

अरोड़ा ने ‘कोविड-19 के दौरान चुनाव कराने के मुद्दे, चुनौतियां और प्रोटोकॉल: देश का अनुभव साझा करना’ विषयक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा कि आयोग बिहार का दौरा करने पर ‘अगले दो तीन दिन में निर्णय करेगा।

चुनाव आयोग आम तौर पर चुनाव वाले राज्य के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करने से पहले वहां की पुलिस, नागरिक प्रशासन के अधिकारियों एवं राजनीतिक दलों के साथ चर्चा करने के लिए उस प्रदेश का दौरा करता है। आयोग में एक मुख्य चुनाव आयुक्त और दो चुनाव आयुक्त होते हैं।

आयोग की एक विज्ञप्ति के अनुसार अरोड़ा ने चुनाव पर कोविड -19 के असर की विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि एक मतदान केंद्र पर मतदाताओं की अधिकतम संख्या 1500 से घटकर अब 1000 रह गई है और मतदान केंद्रों की संख्या 65000 से बढ़कर 100000 हो गई है। अरोड़ा ने कहा कि और इन बदलावों के लिए भारी इंतजाम और कर्मियों की जरूरत पड़ी। 

बिहार में 243 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो जाएगा और प्रदेश में अक्तूबर-नवंबर में चुनाव होने की संभावना है।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने सोमवार को कहा कि चुनाव आयोग (ईसी) अगले कुछ दिनों में बिहार का दौरा करने का निर्णय करेगा जहां कोविड-19 महामारी के बीच इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है।

अरोड़ा ने ‘कोविड-19 के दौरान चुनाव कराने के मुद्दे, चुनौतियां और प्रोटोकॉल: देश का अनुभव साझा करना’ विषयक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा कि आयोग बिहार का दौरा करने पर ‘अगले दो तीन दिन में निर्णय करेगा।

चुनाव आयोग आम तौर पर चुनाव वाले राज्य के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करने से पहले वहां की पुलिस, नागरिक प्रशासन के अधिकारियों एवं राजनीतिक दलों के साथ चर्चा करने के लिए उस प्रदेश का दौरा करता है। आयोग में एक मुख्य चुनाव आयुक्त और दो चुनाव आयुक्त होते हैं।

आयोग की एक विज्ञप्ति के अनुसार अरोड़ा ने चुनाव पर कोविड -19 के असर की विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि एक मतदान केंद्र पर मतदाताओं की अधिकतम संख्या 1500 से घटकर अब 1000 रह गई है और मतदान केंद्रों की संख्या 65000 से बढ़कर 100000 हो गई है। अरोड़ा ने कहा कि और इन बदलावों के लिए भारी इंतजाम और कर्मियों की जरूरत पड़ी। 

बिहार में 243 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो जाएगा और प्रदेश में अक्तूबर-नवंबर में चुनाव होने की संभावना है।

.



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *