सुप्रीम कोर्ट सीट पर ट्रंप और डेमोक्रेटों में अंतिम मुकाबला, नई नियुक्ति पर राष्ट्रपति के खिलाफ विपक्ष


वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वाशिंगटन

Up to date Tue, 22 Sep 2020 12:33 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर

कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for simply ₹299 Restricted Interval Provide. HURRY UP!

ख़बर सुनें

राष्ट्रपति ट्रंप द्वारा सुप्रीम कोर्ट की न्यायाधीश रूथ बदर गिंस्बर्ग के निधन से रिक्त हुए पद पर किसी महिला उम्मीदवार को नामित करने के संकल्प के बाद अमेरिकी चुनाव में माहौल और गर्म हो गया है। इस मुद्दे पर जहां राष्ट्रपति अपने समर्थक  सांसदों को लामबंद करने में जुटे हैं वहीं डेमोक्रेट नेताओं ने इस मुद्दे पर टकराव के साथ अमेरिका में स्वास्थ्य मुद्दे पर जनमत संग्रह कराने की मांग रख दी है।

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट की सीट पर इस नियुक्ति को लेकर ट्रंप और डेमोक्रेटों के बीच अब यह अंतिम मुकाबला होगा। दरअसल यदि ट्रंप नई नियुक्ति करते हैं तो उसे लेकर डेमोक्रेटिक नेता अमेरिकी चुनाव में राष्ट्रपति की कई परतें खोलेंगे जबकि नहीं करने पर ट्रंप खुद घिर जाएंगे।

ऐसे में डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बिडेन ने नई नियुक्ति पर ट्रंप के फैसले का इंतजार करते हुए अपना पूरा चुनाव अभियान अमेरिका में स्वास्थ्य और बेरोजगारी के मुद्दे पर फोकस करने का संकल्प लिया है। हालांकि उदारवादी रिपब्लिकन सीनेटर भी सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति को लेकर ट्रंप के संकल्प के पक्ष में नहीं हैं। इनमें सीनेटर लामर अलेक्जेंडर जैसे नेता शामिल हैं। बिडेन ने स्पष्ट किया कि वे चुनाव में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था पर ही अपना ध्यान फोकस करेंगे ताकि ट्रंप मूल चुनावी एजेंडे से जनता को गुमराह न कर पाएं।
 
ताकत का दुरुपयोग करना चाहते हैं ट्रंप : बिडेन
डेमोक्रेटिक प्रत्याशी जो बिडेन का कहना है कि गिंसबर्ग के उत्तराधिकारी को चुनने का मसला नए राष्ट्रपति पर छोड़ देना चाहिए, जबकि रिपब्लिकन पार्टी के नेता मिक मैक्कोनल का कहना है कि सदन राष्ट्रपति द्वारा नामित किसी भी व्यक्ति का समर्थन करेगा। इस पर बिडेन ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप की चुनाव से पहले सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति की योजना है जो स्पष्ट तौर पर ताकत का दुरुपयोग है।
 
वीचैट रोक पर ट्रंप को अदालत से झटका
ट्रंप प्रशासन को झटका देते हुए एक अमेरिकी अदालत ने राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर चीनी एप वीचैट पर फिलहाल रोक लगाने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने ट्रंप के उस आदेश पर भी रोक लगा दी है जिसमें गूगल स्टोर और एप स्टोर जैसे डाउनलोडिंग प्लेटफॉर्म से इसे हटाने के निर्देश जारी किए गए थे। वीचैट द्वारा दी गई अदालती चुनौती में ट्रंप प्रशासन यह साबित नहीं कर पाया कि ये एप राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए कैसे खतरा हैं।
 
राष्ट्रपति को जहर भेजने वाली संदिग्ध महिला गिरफ्तार
अमेरिकी सीमा अधिकारियों ने एक कनाडाई महिला को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को जहरीला पत्र भेजने के आरोप में गिरफ्तार किया है। महिला अधिकारियों ने उस वक्त गिरफ्तार किया जब वह कनाडा-न्यूयॉर्क सीमा से अमेरिका में प्रवेश करने की कोशिश कर रही थी। उसके पास से अधिकारियों ने एक बंदूक भी बरामद की गई है। अमेरिका में चुनाव के मद्दे नजर इस मामले की गंभीर जांच की जा रही है।

राष्ट्रपति ट्रंप द्वारा सुप्रीम कोर्ट की न्यायाधीश रूथ बदर गिंस्बर्ग के निधन से रिक्त हुए पद पर किसी महिला उम्मीदवार को नामित करने के संकल्प के बाद अमेरिकी चुनाव में माहौल और गर्म हो गया है। इस मुद्दे पर जहां राष्ट्रपति अपने समर्थक  सांसदों को लामबंद करने में जुटे हैं वहीं डेमोक्रेट नेताओं ने इस मुद्दे पर टकराव के साथ अमेरिका में स्वास्थ्य मुद्दे पर जनमत संग्रह कराने की मांग रख दी है।

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट की सीट पर इस नियुक्ति को लेकर ट्रंप और डेमोक्रेटों के बीच अब यह अंतिम मुकाबला होगा। दरअसल यदि ट्रंप नई नियुक्ति करते हैं तो उसे लेकर डेमोक्रेटिक नेता अमेरिकी चुनाव में राष्ट्रपति की कई परतें खोलेंगे जबकि नहीं करने पर ट्रंप खुद घिर जाएंगे।

ऐसे में डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बिडेन ने नई नियुक्ति पर ट्रंप के फैसले का इंतजार करते हुए अपना पूरा चुनाव अभियान अमेरिका में स्वास्थ्य और बेरोजगारी के मुद्दे पर फोकस करने का संकल्प लिया है। हालांकि उदारवादी रिपब्लिकन सीनेटर भी सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति को लेकर ट्रंप के संकल्प के पक्ष में नहीं हैं। इनमें सीनेटर लामर अलेक्जेंडर जैसे नेता शामिल हैं। बिडेन ने स्पष्ट किया कि वे चुनाव में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था पर ही अपना ध्यान फोकस करेंगे ताकि ट्रंप मूल चुनावी एजेंडे से जनता को गुमराह न कर पाएं।

 
ताकत का दुरुपयोग करना चाहते हैं ट्रंप : बिडेन
डेमोक्रेटिक प्रत्याशी जो बिडेन का कहना है कि गिंसबर्ग के उत्तराधिकारी को चुनने का मसला नए राष्ट्रपति पर छोड़ देना चाहिए, जबकि रिपब्लिकन पार्टी के नेता मिक मैक्कोनल का कहना है कि सदन राष्ट्रपति द्वारा नामित किसी भी व्यक्ति का समर्थन करेगा। इस पर बिडेन ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप की चुनाव से पहले सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति की योजना है जो स्पष्ट तौर पर ताकत का दुरुपयोग है।
 
वीचैट रोक पर ट्रंप को अदालत से झटका
ट्रंप प्रशासन को झटका देते हुए एक अमेरिकी अदालत ने राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर चीनी एप वीचैट पर फिलहाल रोक लगाने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने ट्रंप के उस आदेश पर भी रोक लगा दी है जिसमें गूगल स्टोर और एप स्टोर जैसे डाउनलोडिंग प्लेटफॉर्म से इसे हटाने के निर्देश जारी किए गए थे। वीचैट द्वारा दी गई अदालती चुनौती में ट्रंप प्रशासन यह साबित नहीं कर पाया कि ये एप राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए कैसे खतरा हैं।
 
राष्ट्रपति को जहर भेजने वाली संदिग्ध महिला गिरफ्तार
अमेरिकी सीमा अधिकारियों ने एक कनाडाई महिला को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को जहरीला पत्र भेजने के आरोप में गिरफ्तार किया है। महिला अधिकारियों ने उस वक्त गिरफ्तार किया जब वह कनाडा-न्यूयॉर्क सीमा से अमेरिका में प्रवेश करने की कोशिश कर रही थी। उसके पास से अधिकारियों ने एक बंदूक भी बरामद की गई है। अमेरिका में चुनाव के मद्दे नजर इस मामले की गंभीर जांच की जा रही है।

.



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *